गुवाहाटी। ।

नागरिकता(संशोधन) विधेयक को लेकर असमिया फिल्म जगत भी मुखर हो गया है। जानेमाने असमिया फिल्मकार जाह्नू बरुवा ने आशंका जताई है कि नागरिकता(संशोधन) विधेयक से असमियाओं का अस्तित्व खत्म हो जाएगा।



वहीं, चर्चित गायक जुबिन गर्ग ने सोनारी में बिहू कार्यक्रम के मंच से इस विधेयक को फाड़कर फेंकने की बात कही। बुधवार को कांस फिल्म महोत्सव में भाग ले रहे जानेमाने फिल्मकार जाह्नू बरुवा ने एक संदेश भेजा है। उनके भेजे वॉयस रिकॉर्डिंग में सुना गया है कि नागरिकता(संशोधन) विधेयक पारिक हो गया तो असमियाओं का अस्तित्व हीं नहीं बचेगा। मैं आज की बात नहीं कर रहा हूं। मैं इस विधेयक का घोर विरोधी हूं। प्रत्येक असमिया को इस विधेयक के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए।



दूसरी ओर, मंगलवार देर रात सोनारी में एक बिहू कार्यक्रम में भाग लेते हुए मंच से उपस्थित दर्शकों से युवा पीढ़ी के हार्टथ्रोब जुबिन गर्ग ने कहा-'नागरिकता(संशोधन) विधेयक को लेकर काफी बवाल मचा हुआ है। मैं तो साफगोई से बात रखनेवाला इंसान हूं। इस विधेयक को तो फाड़ ही देनी चाहिए। कांग्रेस भाजपा यह सब असमिया जाति को टोपी पहनाने की कोशिश कर रहे हैं। उल्टे हम उन्हें टोपी पहना देंगे। हमारे पास बड़ा टोपी(जापी) है।'



मालूम हो कि इस विधेयक के खिलाफ जेपीसी की सुनवाई में अपनी राय जताने असमिया फिल्म अभिनेत्री प्रस्तुति परासर, बरसा रानी बिषया आदि के अलावा कई अन्य गए हुए थे। इसके अलावा कईयों ने सोशल नेटवर्किंग साइटों के जरिए भी इस विधेयक का विरोध जताया है।