गुवाहाटी। ।

जल्द ही जापानी बटेर के अंडे और मांस शहर के बाजारों में ब्रॉयलर चिकन को कड़ी टक्कर दे सकते हैं। असम पशुधन और कुक्कुट निगम लिमिटेड शहर में जापानी बटेर प्रजनन फार्म खोलने जा रही है। 



इसके लिए क्षेत्र में साढे चार बीघा भूखंड में इसके फार्म का निर्माण शुरु होने वाला है। इन पक्षियों का प्रजनन अगले दो/तीन महीनों में शुरू होने की संभावना है।



निगम के प्रशासनिक अधिकारी पूर्ण नंदा कोनवर ने असम ट्रिब्यून को बताया कि फार्म को शुरू में करीब 20,000 पक्षियों साथ शुरू किया जाएगा। सरकार द्वारा स्थापित किए जाने वाले पहले फार्म में 40,000 पक्षियों की क्षमता होगी।


जापानी बटेर बहुत मजबूत पक्षी हैं जो छोटे पिंजरों में भी रह सकते हैं। इसे पालना सस्ता है। वे ब्रॉयलर चिकन के विपरीत काफी प्रतिरोधी हैं। जापानी बटेर लगभग 6 हफ्तों में तैयार हो जाते हैं। आम तौर पर ये 50 दिनों की उम्र से अंडा उत्पादन करने लगते हैं।


उचित देखभाल के साथ पहले साल में करीब 300 अंडे और दूसरे साल में करीब 150-175 अंडे देती है। इसकी आयु केवल 2 से 2.5 साल है। 


कोनवर ने कहा कि बटेर के अंडे पोषण में उच्च हैं और इनमें औषधीय गुण भी हैं। वे विटामिन और खनिज के अच्छो स्रोत हैं।


निगम के अध्यक्ष मनोज सैकिया ने कहा कि फार्म का लक्ष्य हर साल 36 लाख अंडे का उत्पादन करना है।