नई दिल्ली। ।

JNU में देश विरोधी नारे लगाने के मामले फंस चुका उमर खालिद ने इस बार वीरेंद्र सहवाग पर जहर उगला है। इसके बाद खालिद इंडियन क्रिकेट फैन्स के निशाने पर आ गया।


इसने हाल ही में वीरेंद्र सहवाग पर टिप्पणी की कि सहवाग भारत के नहीं है, वे बीसीसीआई के लिए खेलते हैं। ये कमेंट तब किया जब सहवाग ने गुरमेहर कौर मामले में एक ट्वीट किया।


खालिद के इस बेतुके ट्वीट के बाद उसपर इंडियन क्रिकेट फैन्स जमकर भड़क गए हैं। समीर ने लिखा, भारत की जगह अगर पाकिस्तन की जमीन पर तुम ऐसे ही शब्द बोल लो और फिर जिंदा बच जाओ तो जरूर बताना तुम्हारा एक्सपीरियंस।



टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने गुरमेहर के ही अंदाज में एक तख्ती हाथ में लेकर उन्हें जवाब देने की कोशिश की थी। जिसमें सहवाग ने लिखा था कि मेरी डबल सेन्चुरी मैंने नहीं मेरे बल्ले ने बनाई है।



इस ट्वीट के बाद गुरमेहर के समर्थकों ने और उमर खालिद ने सहवाग पर जहर उगलना शुरु कर दिया। हालांकि सहवाग ने अपने उस फोटो ट्वीट पर सफाई भी दी है।



इस कॉन्ट्रोवर्सी में गुरमेहर की एंट्री तब हुई, जब उन्होंने 22 फरवरी को अपना फेसबुक प्रोफाइल पिक्चर बदला और ‘सेव डीयू कैम्पेन’ शुरू किया। वे एक तख्ती पकड़ी हुई नजर आईं। #StudentsAgainstABVP हैशटैग के साथ लिखा- 'मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी में पढ़ती हूं। ABVP से नहीं डरती। मैं अकेली नहीं हूं। भारत का हर स्टूडेंट मेरे साथ है।'



हालांकि, इसके तुरंत बाद पाकिस्तान के बारे में उनका एक पोस्टर वायरल हुआ और वे ट्रोल होने लगीं। दरअसल, पिछले साल 28 अप्रैल को गुरमेहर कौर ने चार मिनट का वीडियो अपलोड किया था। इसमें उन्होंने एक-एक कर 36 पोस्टर दिखाए थे। लेकिन पोस्टर नंबर 13 वायरल हो गया। इसमें उन्होंने लिखा था कि पाकिस्तान ने मेरे पिता को नहीं मारा, बल्कि जंग ने मारा है।