नर्इ दिल्ली। ।

सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने वाले महिंद्र ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा नए-नए टैलेंट को ढूंढनें के लिए हमेशा चर्चा में रहते हैं। 'जूतों का अस्पताल' नाम से अपनी छोटी-सी दुकान चलाने वाले नरसीराम की दुनिया ही बदलने वाले आनंद महिंद्रा को अब  'वन मैन बैंड' पसंद आ गया हैै। बिजनसमैन आनंद महिंद्रा बैंड परफॉर्मर के फैन हो गए हैं। इस युवा की परफॉर्मेंस से महिंद्रा इतना प्रभावित हो गए हैं कि वह उसे एक अवॉर्ड भी देना चाहते हैं। हालांकि, महिंद्रा को यह नहीं पता है कि वह इस बैंड परफॉर्मेंस के लिए कौन सा अवॉर्ड देंगे।
 

शायद नाॅर्थर्इस्ट का है ये 'वन मैन बैंड'


अपने ट्विटर अकाउंट से उन्होंने एक वीडियो ट्वीट किया जिसमें एक युवा हाथ में गिटार और पीठ पर ड्रम लगाकर परफॉर्म कर रहा है। उन्होंने यह भी ट्वीट किया, 'मेरे जिस दोस्त ने यह पोस्ट किया उसे भी नहीं पता है कि यह वन मैन बैंड असल में कहां का है। उसे लगता है कि यह शायद नॉर्थ ईस्ट में कहीं का है। क्या कोई इसे जानता है? मैं नई खोज और संगीत में प्रतिभा के लिए इसे अवॉर्ड देना चाहूंगा, लेकिन कौन सा अवॉर्ड दूंगा अभी तय नहीं किया है।'



वाट्सअप के जरिए अानंद तक पहुंचा ये वीडियाे


बता दें कि वीडियो में दिखने वाला ये शख्स अकेले ही गिटार, ड्रम और माउथ ऑर्गन एक साथ बजाता है और सिर्फ बजाना ही बड़ी बात नहीं धुन भी शानदार निकालता है। इस शख्स का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। वाट्सअप के जरिए ये आनंद महिंद्रा के पास भी पहुंचा। अब महिंद्रा ट्विटर पर इस शख्स का नाम और पता ढूंढ रहे हैं आैर इस शख्स को वे अवार्ड देना चाहते हैं।

अनांद ने तीन लोगों की जिंदगियां बदली हैं


गौरतलब है कि यह कोर्इ पहली बार नहीं है जब आनंदएेसा करना चाह रहे है इससे पहले भी वे एेसा कर चुके हैं। इस साल अप्रैल में आनंद ने एक ट्वीट पर बताया कि उन्हें एक तस्वीर वॉट्सऐप पर मिली है, जिसमें 'जख्मी जूतों के हस्पताल' का बोर्ड लगाकर एक शख्स मोची का काम करता है। आनंद हरियाणा के नरसीराम मोची के आइडिया पर फिदा हो गए। साथ ही उन्होंने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट (IIM) को इस मोची से मार्केटिंग सीखने की सलाह दे डाली। पिछले 1 साल में उन्होंने 3 ऐसे आम, लेकिन 'अलग' लोगों की मदद की है,

जिन्‍हें मेनस्ट्रीम मीडिया में कवरेज भी मिली और उनकी जिंदगियां भी बदली

है।